मंगलवार, 20 जुलाई 2021

रूस निर्मित इस ब्रह्मास्‍त्र से बेचैन हुआ अमेरिका, ध्‍वनि से भी तेज है जिरकॉन मिसाइल, जानिए : OmTimes

रूस (ऊँ टाइम्स) वाशिंगटन और मॉस्‍को के तनाव के बीच रूस ने एंटी शिप हाइपरसोनिक मिसाइल जिरकॉन का सफल परीक्षण किया है। जिरकॉन एक एंटी शिप मिसाइल है। रूस ने इसका सफल परीक्षण किया है। यह माना जा रहा है कि अगले साल तक इस मिसाइल को सक्रिय कर दिया जाएगा। खास बात यह है कि अमेरिका के पास अभी भी कोई ऑपरेशनल हाइपरसोनिक मिसाइल नहीं है। रूस के इस मिसाइल परीक्षण से अमेरिका ने अपनी तीखी प्रतिक्रिया दी है। अमेरिका का कहना है कि इससे शस्‍त्रों की होड़ बढ़ेगी और क्षेत्रीय स्थिरता में खलल होगा

हाइपरसोनिक मिसाइल जिरकॉन का जबाब नहीं -  यह मिसाइल ध्‍वनि की 7 गुना रफ्तार या मैक 7 की गति से दुश्‍मन पर प्रहार करने में सक्षम है। हालांकि, परीक्षण के दौरान मिसाइल ने 8600 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार हासिल की।मिसाइल दागे जाने के मात्र ढाई मिनट के अंदर अपने टारगेट को तबाह कर दिया। रूस की योजना अपनी सेना को हाइपरसोनिक मिसाइलों से लैस करने की है ताकि वे किसी भी अमेरिकी डिफेंस सिस्‍टम को चकमा देकर अपने लक्ष्‍य को तबाह कर सकें।इसके पूर्व एडमिरल गोर्शकोव से ही तीन बार जिरकॉन मिसाइल का सफल परीक्षण किया गया था। रूस के रक्षा मंत्रालय ने बताया कि यह परीक्षण वाइट सी में किया गया है और बैरंट सी के तट पर एक जमीनी टारगेट को तबाह किया गया।रूस ने एलान किया था कि वह 2021 में 200 मिसाइलों का परीक्षण करेगा। रूसी रक्षा मंत्रालय ने घोषणा की कि इन 200 मिसाइलों का परीक्षण राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के नेतृत्व में किया जाएगा। इसके पूर्व 2020 में भी रूस ने करीब 200 मिसाइलों का परीक्षण किया था। वर्ष 2018 में रूसी राष्‍ट्रपति व्‍लादिमीर पुतिन ने कहा था कि यह मिसाइल दुनिया के किसी भी हिस्‍से पर हमला कर सकती है और अमेरिका के बनाए डिफेंस सिस्‍टम को भी चकमा दे सकती है। उस वक्‍त पुतिन ने धमकी दी थी कि अगर अमेरिका ने अपनी मध्‍यम दूरी की मिसाइलों को यूरोप में तैनात किया तो वह अपने युद्धक जहाजों और सबमरीन को जिरकॉन मिसाइल से लैस कर देंगे। रूसी विमान निर्माता कंपनियों का कहना है कि वे अगले सप्ताह मॉस्‍को में आयोजित होने वाले एयर शो में एक नया लड़ाकू विमान पेश करेंगे। नए युद्धक विमान को मॉस्‍को के पास जुकोवस्की में एक पार्किंग स्थल पर ले जाते हुए देखा गया था। मास्को में मंगलवार को एमएकेएस-2021 अंतरराष्ट्रीय विमानन एवं अंतरिक्ष सैलून नामक एयर शो की शुरुआत होगी। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन एयर शो के उद्घाटन पर मौजूद रहेंगे। रूसी मीडिया के मुताबिक नए लड़ाकू विमान का निर्माण हल्के लड़ाकू विमानों के निर्माण की योजना के तहत किया गया है। इस लड़ाकू विमान का निर्माण सुखोई का निर्माण करने वाली कंपनी ने किया है। रूस के नवीनतम लड़ाकू विमान एसयू-57 के विपरीत नए लड़ाकू विमान में केवल एक ही इंजन होगा और वह अपेक्षाकृत छोटा होगा।