मंगलवार, 23 मार्च 2021

पटना में सड़कों पर RJD का उत्‍पात, पुलिस और मीडिया कर्मियों की पिटाई : OmTimes

पटना (ऊँ टाइम्स)  बिहार विधानसभा के घेराव के लिए पटना के गांधी मैदान के पास स्थित जेपी गोलंबर से निकले राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) के मार्च के दौरान पटना में जमकर उपद्रव हुआ है। कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम को लेकर प्रशासन की मनाही के बावजूद आरजेडी नेता व कार्यकर्ता काफी संख्‍या में जेपी गोलंबर के पास इकट्ठा होकर विधानसभा के लिए रवाना हो गए। उन्‍होंने जेपी गोलंबर के पास लगाई गई बैरिकेडिंग को तोड़ दिया। इसके बाद डाकबंगला चौराहे पर उनकी पुलिस-प्रशासन से जबर्दस्‍त झड़प हुई, जिसमें दोनों ओर से कम से कम दो दर्जन लोग बुरी तरह घायल हो गए हैं। आरजेडी ने मीडिया पर भी हमला किया। जब वाटर कैनन से बात नहीं बनी तो पुलिस ने लाठीचार्ज किया। पुलिस ने मार्च का नेतृत्‍व कर रहे तेजस्‍वी यादव और तेज प्रताप यादव को हिरासत में ले लिया।

OmTimes News Live Updates  ...  R.J.D. Bihar Vidhansabha March ...

01.35 PM :-  तेजस्‍वी और तेज प्रताप के काफी समझाने के बाद कार्यकर्ता कुछ शांत हुए हैं। इसके बाद पुलिस दोनों नेताओं को एक बस में लेकर गांधी मैदान की तरफ बढ़ रही है। आरजेडी कार्यकर्ता इस बस को घेरकर साथ-साथ चल रहे हैं। डाकबंगला चौराहे पर हालात अब धीरे-धीरे सामान्‍य हो रहे हैं। भीड़ वहां से हट गई है।

01.25 PM :-   आरजेडी के कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर ही रोड़ेबाजी करने का आरोप लगाया है। आरजेडी की एक महिला कार्यकर्ता ने कहा कि पुलिस के चलाए पत्‍थर से वह चोटिल हो गई। पुलिस अभी भी डाकबंगला चौराहे से कार्यकर्ताओं को हटाने की कोशिश कर रही है। डाकबंगला चौराहे पर हंगामे की वजह से आधे शहर की यातायात व्‍यवस्‍था पूरी तरह चौपट हो गई है।

01.15 PM :-   प्रशासन की ओर से तेजस्‍वी और तेज प्रताप यादव को ले जाने के लिए ले जाई गई बस को आरजेडी कार्यकर्ता आगे नहीं बढ़ने दे रहे हैं। दोनों नेताओं ने बस से उतरकर कार्यकर्ताओं को समझाने की कोशिश की, लेकिन इसका कोई असर दिखाई नहीं दिया। पुलिस स्थिति को शांत करने के लिए काफी मशक्‍कत करती नजर आ रही है।

01.07 PM :-  पुलिस ने डाकबंगला चौराहे से नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव और तेज प्रताप यादव को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। दोनों को एक बस में बैठाकर पुलिस वहां से ले जा रही है। अभी यह तय नहीं कि दोनों नेताओं को कहां ले जाया जाएगा।

12.58 PM : - आरजेडी कार्यकर्ता अब कुछ शांत दिख रहे हैं। तेजस्‍वी यादव और तेज प्रताप यादव अपने वाहन पर सवार होकर डाकबंगला चौराहे पर पहुंचे हैं। दोनों ही नेता अपने वाहन पर खड़े होकर ही कार्यकर्ताओं और मीडिया कर्मियों से बात कर रहे हैं। वहां स्थिति अब धीरे-धीरे सामान्‍य हो रही है।

12.52 PM :-  तेजस्‍वी यादव और दूसरे आरजेडी नेताओं का कहना है कि उनके कार्यकर्ताओं ने कोई रोड़ेबाजी नहीं की है। आंदोलन को बदनाम करने के लिए बाहरी लोगों ने ऐसा किया है। आरजेडी नेताओं ने एक निजी परिसर से पुलिस पर रोड़े फेंकने का आरोप लगाया है। उन्‍होंने कहा कि उनके कार्यकर्ता शांतिपूर्ण तरीके से विधानसभा की ओर बढ़ रहे थे।

12.50 PM :-  अब तेजस्‍वी यादव और तेज प्रताप यादव की गाड़ी कार्यकर्ताओं के बीच पहुंच गई है। दोनों नेता लगातार कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे हैं। एक पिकअप वाहन पर सवार दोनों भाई कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ा रहे हैं। चार पहिया वाहन पर सवार तेज प्रताप यादव अपने सिर पर हेलमेट लगाए दिखे। वे अपने पिता लालू प्रसाद यादव की तस्‍वीरें दिखा रहे हैं।

12.44 PM :-  अब तेजस्‍वी यादव भी डाकबंगला चौराहे के नजदीक आ गए हैं। इधर, पुलिस कर्मी उत्‍पाती आरजेडी कार्यकर्ताओं को खदेड़ने में जुटी है। कुछ पुलिस अधिकारी कार्यकर्ताओं को समझाने की भी कोशिश कर रहे हैं। उपद्रवियों ने सड़क पर खड़ी गाड़‍ियों में भी तोड़फोड़ की है।

12.40 PM :- थोड़ी देर थमने के बाद आरजेडी कार्यकर्ताओं ने उत्‍पात दोबारा शुरू कर दिया है। कई मीडिया वालों की भी पिटाई आरजेडी कार्यकर्ताओं ने की है। कार्यकर्ता रोड़ेबाजी लगातार जारी रखे हुए हैं। दूसरी तरफ तेजस्‍वी यादव और तेज प्रताप यादव अभी तक जेपी गोलंबर से डाकबंगला चौराहे तक नहीं पहुंच पाए हैं।

12.35 PM :- पुलिस और राजद कार्यकर्ताओं के बीच तीखी झड़प हुई है। एक सिपाही का सिर फटने की सूचना है। कई और सिपाही भी घायल हुए हैं। पुलिस ने लाठीचार्ज शुरू किया तो आरजेडी कार्यकर्आओं ने भी डंडों से पुलिस वालों की पिटाई की।

12.25 PM :-  डाकबंगला चौराहे पर प्रशासन ने आखिरकार राजद कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज शुरू कर दिया है। आरजेडी कार्यकर्ता भी पुलिस पर लाठियां चला रहे हैं।

12.20 PM :- प्रशासन ने आरजेडी कार्यकर्ताओं को हर हाल में डाकबंगला चौराहे पर रोकने का निश्‍चय कर लिया है। यहां से आगे बढ़ने की स्थ‍िति में लाठीचार्ज किए जाने की पूरी उम्‍मीद है।

12.15 PM :-  आरजेडी कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए डाकबंगला चौराहे के पास प्रशासन मुस्‍तैद हो गया है। यहां आरजेडी कार्यकर्ता लगातार प्रशासन से उलझ रहे हैं। दूसरी तरफ तेजस्‍वी और तेज प्रताप जेपी गोलंबर से धीरे-धीरे डाकबंगला की ओर बढ़ रहे हैं।

12.10 PM :- आरजेडी कार्यकर्ताओं को रोकने के लिए प्रशासन ने अब वाटर कैनन का इस्‍तेमाल शुरू कर दिया है। हालांकि, कार्यकर्ता मानने को इसके बाद भी तैयार नहीं हैं।

12.05 PM :-  आरजेडी कार्यकर्ताओं के आंदोलन की वजह से पूरे बेली रोड पर यातायात व्‍यवस्‍था ध्‍वस्‍त हो गई है। तेजस्‍वी और तेज प्रताप के आने के बाद राजद कार्यकर्ता और भी आक्रामक हो गए हैं।

12.00 PM :-  विधानसभा का घेराव करने निकले आरजेडी कार्यकर्ताओं का नेतृत्‍व नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव और उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव खुद कर रहे हैं। दोनों भाई एक वाहन पर सवार होकर कार्यकर्ताओं के साथ आगे बढ़ रहे हैं।

11.55 AM :-  नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव खुद जेपी गोलंबर पर पहुंच गए हैं। कार्यकर्ता लगातार आरजेडी और तेजस्‍वी जिंदाबाद के नारे लगा रहे हैं।

11.50 AM :-  आरजेडी के कार्यकर्ता जेपी गोलंबर से आगे बढ़ गए हैं। प्रशासन अब उन्‍हें डाकबंगला चौराहे के पास रोकने की कोशिश कर रहा है। स्थिति काफी तनावपूर्ण है।

11.40 AM :-  आरजेडी कार्यकर्ताओं के प्रदर्शन के कारण बेली रोड पर आयकर गोलंबर से लेकर गांधी मैदान तक यातायात प्रभावित हो रहा है। कार्यकर्ता जबरन बैरिकेडिंग तोड़ने का प्रयास कर रहे हैं।

11.30 AM :-  प्रशासन ने राजद कार्यकर्ताओं को जेपी गोलंबर के पास ही रोकने के लिए बैरिकेडिंग कर दी है। यहां बड़ी तादाद में पुलिस बल को भी तैनात किया गया है।

11.20 AM :- तेजस्‍वी यादव और उनके बड़े भाई तेज प्रताप यादव फिलहाल बिहार विधानसभा में पहुंच गए हैं। उधर, गांधी मैदान के पास कार्यकर्ताओं का जुटना अभी भी जारी है।

11.10 AM :-  तेजस्‍वी यादव ने राम मनोहर लोहिया की पंक्तियों को ट्वीट किया है। उन्‍होंने लिखा है कि अगर सड़कें खामोश हो जाएं तो संसद आवारा हो जाती है।

11.00 AM :-  गांधी मैदान के पास आरजेडी कार्यकर्ताओं की भीड़ बढ़ती जा रही है। खास बात यह है कि आंदोलन में शामिल होने आए कार्यकर्ता न तो मास्‍क लगाकर आए हैं और न हीं वहां शारीरिक दूरी जैसी किसी बात का ख्‍याल रखा जा रहा है।

10.50 AM :-  तेजस्‍वी ने कहा है कि बेरोजगारी और निरंकुश सत्‍ता के खिलाफ हमारी लड़ाई अनवरत जारी रहेगी। उन्‍होंने कहा कि युवाओं को उनका हक दिलाए बगैर वे सरकार का पीछा नहीं छोड़ेंगे।

10.40 AM :-  गांधी मैदान के पास जुटे आरजेडी के कार्यकर्ता अपने नेता तेजस्‍वी यादव के आने का इंतजार कर रहे हैं। उनके आने के बाद कार्यकर्ता विधानसभा की ओर रवाना होंगे।

10.30 AM :-  पटना के जिला प्रशासन ने आरजेडी को गर्दनीबाग में बैठकर धरना देने की सलाह दी है। विधानसभा का घेराव करने और सड़क से जुलूस निकालने के लिए प्रशासन अनुमति नहीं दे रहा है। हालांकि, आरजेडी प्रशासन की सलाह मानने को तैयार नहीं है।

10.20 AM :-  आरजेडी के विधानसभा मार्च को देखते हुए प्रशासन ने जरूरी एहतियाती इंतजाम किए हैं। गांधी मैदान के आसपास बड़ी संख्‍या में रैपिड एक्‍शन फोर्स के साथ ही सशस्‍त्र और लाठी पुलिस बल को तैनात किया गया है।

10.10 AM :-  जनता दल यूनाइटेड (JDU) के विधान पार्षद संजय सिंह ने कहा है कि आरजेडी के नेता कानून-व्‍यवस्‍था को बिगाड़ने की कोशिश कर रहे हैं। प्रशासन की अनुमति के बगैर सड़काें पर जुलूस निकालना गलत है।

10.00 AM :-  बिहार विधानसभा के घेराव के लिए आरजेडी के कार्यकर्ता गांधी मैदान पहुंचने लगे हैं। यहां कार्यकर्ता अपने नेता तेजस्‍वी यादव के आने का इंतजार कर रहे हैं। उनके आने के बाद सभी कार्यकर्ता जुलूस की शक्‍ल में विधानसभा के लिए रवाना होंगे।

बेरोजगारी, अपराध, महंगाई एवं अशिक्षा के मुद्दे पर नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के नेतृत्व में आरजेडी की ओर से मंगलवार को विधानसभा का घेराव किया जाना था। असम की चुनावी यात्रा से खासतौर पर इस आंदोलन के लिए तेजस्वी खुद पटना लौटे। युवा आरजेडी के प्रदेश प्रवक्ता अरुण कुमार यादव ने दावा किया था कि घेराव कार्यक्रम में बड़ी तादाद में कार्यकर्ता एवं आम लोग शिरकत करेंगे। युवा आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष मो. कारी सोहैब के नेतृत्व में सारी तैयारी की गई। आरजेडी प्रवक्ता चितरंजन गगन ने घेराव को इतिहास से जोड़ा। उन्होंने कहा कि महंगाई और तानाशाही के मुद्दे पर 18 मार्च 1974 को बिहार के छात्रों ने लालू प्रसाद के नेतृत्व में विधानसभा का घेराव किया था। 47 वर्ष बाद तेजस्वी यादव के नेतृत्व में फिर वही आक्रोश है। 

आरजेडी ने सरकार पर जनविरोधी होने का आरोप लगाया है। आरजेडी के प्रदेश महासचिव विनोद यादव ने कहा है कि राजधानी के विभिन्न इलाकों में युवा आरजेडी द्वारा लगाए गए सैंकड़ों होर्डिंग-पोस्टर को नीतीश कुमार के इशारे पर नगर निगम प्रशासन ने हटा दिया है। सरकार की यह जनविरोधी नीति है। विधानसभा घेराव के ऐलान से सरकार डर गई है।