मंगलवार, 9 फ़रवरी 2021

काबुल की नदी पर शहतूत बाँध का निर्माण करेगा भारत, हुआ समझौता

नई दिल्ली (ऊँ टाइम्स)  भारत और अफगानिस्तान के बीच आज मंगलवार को आयोजित वर्चुअल समिट में एक अहम समझौता किया गया। इस समझौते के तहत भारत काबुल की नदी पर शहतूत बांध का निर्माण करेगा, जिसके जरिए वहाँ के लोगों को आसानी से स्वच्छ पेयजल के साथ साथ सिंचाई के लिए भी आसानी से पानी मिल सकेगा। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इसके लिए भारत और अफगानिस्तान के विदेश मंत्रियों ने समझौते पर हस्ताक्षर कर दिया है । भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने  कहा, 'हमें इस बात की खुशी है कि शहतूत डैम के निर्माण से काबुल के लोगों को पेय जल और सिंचाई के लिए पानी की सुविधा मुहैया होगी।'  साथ ही अफगानिस्तान के राष्ट्रपति गनी ने भी इस समझौते पर प्रसन्नता जाहिर की, उन्होंने कहा, ' इस शहतूत रिजरवॉयर के साथ हम प्राकृतिक सुंदरता को बहाल करने के हमारे लक्ष्य को पूरा कर सकेंगे। मैं प्रधानमंत्री मोदी को वैक्सीन के साथ जल के इस उपहार के लिए शुक्रिया अदा करता हूं।' 

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'पिछले करीब दो दशकों से भारत-अफगानिस्तान विकास के प्रमुख साझेदारों में रहा है, कृषि, स्वास्थ्य, शिक्षा जैसे अनेक सेक्टरों में हमारी ये योजनाएं फैली है। विभिन्न परियोजनाओं के माध्यम से भारत और अफगानिस्तान की दोस्ती और मजबूत हुई है। यही दोस्ती और यही निकटता कोरोना महामारी के बीच दिखती रही। चाहे दवाईयां या पीपीई किट हो या भारत में बनी वैक्सीन की सप्लाई, हमारे लिए अफगानिस्तान की आवश्यकता महत्वपूर्ण रही है और रहेंगी।'